AddText 06 13 04.16.13

Muzaffarpur : SKMCH और दूसरे मेडिकल कॉलेजों के पीजी सत्र 2019-20 के छात्र बिना ऑनलाइन रिसर्च के दे सकेंगे पीजी की परीक्षा

SKMCH Muzaffarpur : SKMCH और दूसरे मेडिकल कॉलेजों के पीजी सत्र 2019-20 के विद्यार्थियों को फाइनल परीक्षा देने में अब ऑनलाइन रिसर्च मेथेडेलॉजी की डिग्री बाधक नहीं बनेगी। छात्रों की मांग पर नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) ने तत्काल इसमें छूट दे दी है।

एनएमसी का निर्देश है कि पीजी के सभी छात्रों को फाइनल परीक्षा से पहले ऑनलाइन रिसर्च मेथेडेलॉजी का कोर्स कर लेना है। बिना इस कोर्स को पास किए ये छात्र पीजी की पीरक्षा नहीं दे सकेंगे। छात्रों की मांग पर एनएमसी ने इस बार नियम में बदलाव किया है।

छात्रों को डिग्री तभी मिलेगी जब वे यह कोर्स पूरा कर लेंगे

इससे एसकेएमसीएच में इस सत्र में दस पीजी के छात्रों के साथ पूरे बिहार के 300 छात्रों को सुविधा होगी। इसके साथ ही एनएमसी ने हिदायत दी है कि इन छात्रों को डिग्री तभी मिलेगी जब वे यह कोर्स पूरा कर लेंगे।

BRABU : 21 संबद्ध डिग्री कॉलेज की स्नातक उर्त्तीण छात्राओं को मिलेगा कन्या उत्थान योजना का लाभ, सरकार से मिली स्वीकृति, यहाँ देखें कॉलेजों की पूरी लिस्ट

छात्रों को पीजी परीक्षा के छह महीने के अंदर यह कोर्स पूरा कर लेना होगा

छात्रों को पीजी परीक्षा के छह महीने के अंदर यह कोर्स पूरा कर लेना होगा। एनएमसी ने कहा है कि अगर आईसीएमआर से छात्रों को सर्टिफिकेट मिलने में देरी होती है तो विषय के डीन छात्रों को सर्टिफिकेट जारी कर सकते हैं।

इसकी जांच पोस्ट ग्रेज्युएट मेडिकल एजुकेशन बोर्ड के इंस्पेक्टर मेडिकल कॉलेज आकर करेंगे

एनएमसी ने यह स्पष्ट किया कि यह छूट सिर्फ सत्र 2019-20 के छात्रों के लिए है। छात्रों ने ऑनलाइन रिसर्च का कोर्स पूरा किया या नहीं इसकी जांच पोस्ट ग्रेज्युएट मेडिकल एजुकेशन बोर्ड के इंस्पेक्टर मेडिकल कॉलेज आकर करेंगे। पीजी करने वाले मेडिकल छात्रों को महामारी में बेहतर इलाज व रिसर्च के लिए यह कोर्स कराया जाता है।

बिहार यूनिवर्सिटी परीक्षा फॉर्म समेत अन्य सभी अपडेट के लिए Join करें

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

BRABU : बिहार यूनिवर्सिटी में एक साल में बनी 58,143 डिजिटल डिग्री, यहाँ जाने कब मिलेगी छात्रों को ये डिजिटल डिग्रीयाँ

Scroll to Top