स्नातक पार्ट- वन की परीक्षा में 50 प्रश्नों को हल करने के लिए मिलेंगे 90 मिनट, हर चैप्टर से पूछे जाएंगे सवाल, यहाँ जाने पैटर्न

स्नातक पार्ट- वन की परीक्षा में 50 प्रश्नों को हल करने के लिए मिलेंगे 90 मिनट, हर चैप्टर से पूछे जाएंगे सवाल, यहाँ जाने पैटर्न

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में इस बार होने वाली स्नातक पार्ट-वन की परीक्षा में ऑब्जेक्टिव सवाल होने के कारण समय अवधि भी आधी होगी। 50 प्रश्नों को हल करने के लिए छात्रों को 90 मिनट का समय दिया जाएगा। एक सवाल का उत्तर देने के लिए उनके पास एक मिनट 80/ सेकेंड का समय रहेगा।

इस दौरान प्रश्नों के पढ़ने के साथ ओएमआर शीट को भी रंगना होगा ऑनर्स व सब्सिडियरी दोनों परीक्षाओं में विश्वविद्यालय ने ओएमआर शीट पर ऑब्जेक्टिव सवालों के माध्यम से परीक्षा लेने का फैसला लिया गया है।

शैक्षणिक सत्र में एक साल की देरी के कारण विवि प्रशासन ने स्नातक पार्ट-वन के छात्रों की परीक्षा के पैटर्न में बदलाव किया है। परीक्षाओं के समय घटने से एक दिन में दो की जगह तीन सीटिंग में परीक्षा लेने की योजना विश्वविद्यालय बना रहा है।

ताकि परीक्षाओं को अधिक समय तक न खींचा जाए। कोरोना के कारण सामाजिक दूरी को देखते हुए विवि प्रशासन ने परीक्षाओं के विषय के ग्रुपों को भी दोगुना किया है।

28, विषयों के लिए 12 ग्रुप बनाए गए हैं

पिछले साल तक छह ग्रुप बनाकर परीक्षा ली जा रही थी। इस बार 28, विषयों के लिए 12 ग्रुप बनाए गए हैं। परीक्षा नियंत्रक डॉ. संजय कुमार ने कहा कि 75 सवाल हरेक पेपर में पूछे जाएंगे। इसमें 50 प्रश्नों का जवाब छात्रों को देना होगा। उनके पास इसके लिए डेढ़ घंटे का समय होगा। इन छात्रों की परीक्षा होने वाली थी, लेकिन कोरोना के कारण टल गई। बता दें कि विश्वविद्यालय में पहली बार स्नातक के सभी पेपर की परीक्षा ऑब्जेक्टिव लेने का निर्णय लिया है।

परीक्षा की अवधि घटायी

• ऑब्जेटिक्ध सवालों के कारण स्नातक पार्ट वन की परीक्षा का समय किया आधा

● डेढ़ घंटे की ही होगी परीक्षा, एक सवाल हल करने को मिलेंगे एक मिनट 80 सेकेंड

हर चैप्टर से पूछे जाएंगे चार से पांच सवाल

स्नातक पार्ट-वन की परीक्षा में ऑब्जेटिक्य सवाल हर चैप्टर से तैयार किया जाएगा हर चैप्टर से चार से पांच सवाल होंगे। हालांकिके पास 25 अधिक सवालों का विकल्प होगा। दरअसल 75 सवालों में से 50 का ही जवाब देना होगा। | बिना प्रैक्टिकल व प्रैक्टिकल वाले विषय दोनों में यह व्यवस्था लागू होगी केवल |

परीक्षा ओएमआर पर लेना उचित नहीं है। इसके लागू होने से पठन-पाठन की प्रक्रिया मार्किंग अलग-अलग की जाएगी इवर विवि ओएमआर व प्रश्नों को तैयार करने पर असर पड़ेगा। कहा कि परीक्षा में छात्र मोबाइल लेकर जा सकते हैं। बिना जैमर में जुट गया है।

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click here

Bihar News – Click here

BRABU TDC Part 2 Practical Exam: आज से 26 केंद्रों पर शुरू होगी स्नातक सत्र 2019-22 के पार्ट-2 की प्रैक्टिकल परीक्षा

BRABU TDC Part 2 Practical Exam: आज से 26 केंद्रों पर शुरू होगी स्नातक सत्र 2019-22 के पार्ट-2 की प्रैक्टिकल परीक्षा

BRABU TDC Part 2 Practical Exam: बिहार यूनिवर्सिटी में स्नातक पार्ट-2 सत्र 2019-22 की प्रैक्टिकल परीक्षा मंगलवार से 26 केंद्रों पर शुरू होगी। परीक्षा के...