स्नातक सत्र 2021-24 में नामांकन के लिए तीन दिनों के लिए फिर से खुला पोर्टल, यहाँ से करें आवेदन

स्नातक सत्र 2021-24 में नामांकन के लिए तीन दिनों के लिए फिर से खुला पोर्टल, यहाँ से करें आवेदन

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से स्नातक सत्र 2021-24 में नामांकन को लेकर एक बार फिर से तीन दिनों के लिए पोर्टल को खोला गया है। साथ ही पोर्टल पर पूर्व में आवेदन करने वाले विद्यार्थियों को कालेज और विषय को एडिट करने का भी विकल्प मिलेगा। पोर्टल 23 से 25 नवंबर को रात्रि 12 बजे तक खुला रहेगा।

सूची इसी महीने जारी की जाएगी

यूनिवर्सिटी के कोआर्डिनेटर प्रो. टीके डे ने बताया कि कुलपति के निर्देश पर पोर्टल को खोलने का निर्णय लिया गया है। काफी संख्या में छात्र-छात्राएं इसकी मांग कर रहे थे। यह आखिरी मौका दिया गया है। बताया कि इसके बाद मेधा सूची जारी की जाएगी। इसमें छात्र-छात्राओं को जिलावार कालेज आवंटित किया जाएगा। मेधा सूची इसी महीने जारी की जाएगी। बताया कि सीटों को भरने को लेकर विवि की ओर से आनस्पाट नामांकन पर भी विचार किया जा रहा है।

बिहार यूनिवर्सिटी में नए डीओ ने दिया योगदान, राजभवन और विश्वविद्यालय के दिशा-निर्देश में विकास का रोड मैप जल्द तैयार किया जाएगा

आनस्पाट नामांकन को लेकर विशेष जोर दिया जा रहा

नव संबद्ध कालेजों की ओर से आनस्पाट नामांकन पर जोर विश्वविद्यालय के जिन कालेजों को पहली बार नामांकन के लिए सरकार से मान्यता मिली है। ऐसे कालेजों की ओर से आनस्पाट नामांकन को लेकर विशेष जोर दिया जा रहा है। यूनिवर्सिटी की ओर से इसपर कहा गया है कि पहले विद्यार्थियों की केंद्रीकृत सूची जारी की जाएगी।

पैट रिजल्ट के इंतजार में परेशान हो रहे बिहार यूनिवर्सिटी के 1100 छात्र

इसके बाद सीटों को भरने को लेकर आनस्पाट नामांकन पर विचार किया जाएगा। बता दें कि विवि में सत्र 2021-24 में 105 कालेजों में नामांकन को लेकर प्रक्रिया हो रही है। इसमें डेढ़ लाख से अधिक सीट हैं। नामांकन के लिए 1.43 लाख विद्यार्थियों ने आवेदन दिया था। तीन बार मेधा सूची जारी करने के बाद करीब 80 हजार विद्यार्थियों ने नामांकन लिया। ऐसे में 70 हजार सीटें अभी खाली हैं। दूसरे चरण में पोर्टल खुलने पर दो हजार से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं। अब फिर से पोर्टल खोले जाने की तैयारी है।

25 तक आवे विद्यार्थियों को मौका इसके बाद जारी की जाएगी मेधा सूवी, छात्रों के अनुरोध पर विवि ने लिया निर्णय

• जिलावार कालेजों में आन स्पाट नामांकन का दिया जा सकता विकल्प, तीसरी मेधा सूची के बाद 70 हजार सीटें हैं खाली

नियमों के विरुद्ध हो रही बाह्य परीक्षा

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से 2018 में च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) को पीजी कोर्स में लागू कर दिया गया, लेकिन इसके नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। विवि के कई पीजी विभागों में 50 अंकों की आंतरिक और 50 अंकों की बाह्य परीक्षा ली जा रही है। विज्ञान संकायाध्यक्ष डा. मनेंद्र कुमार ने बताया कि राजभवन ने सिर्फ केवल रसायनशास्त्र विषय में 50 अंकों की आंतरिक और 50 अंकों की बाह्य परीक्षा का रेगुलेशन स्वीकृत किया है। अन्य विषयों में 70 अंकों की आंतरिक और 30 अंकों की बाह्य परीक्षा ली जानी है। मामले को लेकर कुलपति को जानकारी दी जाएगी।

UG ADMISSION APPLY LINK: CLICK HERE

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click here

Bihar News – Click here

4 साल से इंतजार कर रहे 4.5 लाख छात्रों को मिलेगी डिग्री, राजभवन से मंजूरी मिलने के बाद यूनिवर्सिटी ने जारी की अधिसूचना

4 साल से इंतजार कर रहे 4.5 लाख छात्रों को मिलेगी डिग्री, राजभवन से मंजूरी मिलने के बाद यूनिवर्सिटी ने जारी की अधिसूचना

बिहार यूनिवर्सिटी के पांच लाख से अधिक विद्यार्थियों को डिग्री देने के लिए मंजूरी मिल गई है। राजभवन की ओर से इसको लेकर स्वीकृति मिलने...