NOU PATNA

NOU : नालंदा खुला विश्वविद्यालय को मान्यता नहीं मिली तो पढ़ाई होगी बंद, नए सत्र के नामांकन पर संकट के बदल मंडरा रहे, यहां जाने क्या है पूरा मामला

NOU PATNA: राज्य के विश्वविद्यालयों में दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से पढ़ाई पहले से बंद है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने सभी की मान्यता समाप्त कर दी है।

अब नालंदा खुला विश्वविद्यालय (NOU)राज्य का एकलौता है।शिक्षा जहां से दूरस्थ पढ़ाई होती है। नए सत्र 2023-24 के लिए विश्वविद्यालय को अब तक मान्यता नहीं मिली है।

नए सत्र में नामांकन पर संकट के बदल मंडरा रहे

इस वजह से नए सत्र में नामांकन पर संकट के बदल मंडरा रहे हैं। विवि में स्नातक स्नातकोत्तर सहित तमाम कोर्सों को मिलाकर कुल छात्रों की संख्या 54 हजार से अधिक है।

एक भी विश्वविद्यालय को नैक से ए ग्रेड प्राप्त नहीं:

दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से पढ़ाई बंद होने से राज्य के दो लाख से अधिक छात्रों का नामांकन नहीं हो पा रहा है। यूजीसी के नियमानुसार अब वही विश्वविद्यालय डिस्टेंस मोड में पढ़ाई करा सकते हैं। जिन्हें नैक से ए ग्रेड प्राप्त है। वर्तमान समय में राज्य के एक भी विश्वविद्यालय को नैक से ए ग्रेड प्राप्त नहीं है।

यह ख़बर बिल्कुल अभी आई है और इसे सबसे पहले आप zeebihar.com पर पढ़ रहे हैं। जैसे-जैसे जानकारी मिल रही है, हम इसे Update कर रहे हैं। आप हमारे साथ बने रहिए और पाइए हर सही ख़बर, सबसे पहले सिर्फ zeebihar.com पर।

पीयू को सिर्फ एक सत्र में नामांकन का दिया गया था मौका

ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी, दरभंगा LMNU में करीब 35 से 40 हजार छात्रों का नामांकन यूजी पीजी सहित कई वोकेशनल स्तरीय अलग-अलग कोर्सों में डिस्टेंस मोड से होता था। बीआरए अम्बेडकर विश्वविद्यालय, मुजफ्फरपुर BRABU में भी यूजी पीजी और कुछ सेल्फ फाइनांस कोर्स की पढ़ाई होती थी।

ये भी पढ़ें BSEB 10th & 12th Dummy Admit Card : बिहार बोर्ड परीक्षा 2023 के लिए डमी एडमिट कार्ड जारी, स्टूडेंट्स ऐसे करें डाउनलोड, इस तारीख तक है सुधार का मौका

मगध विश्वविद्यालय MU में डिस्टेंस मोड से पढाई बंद है। यहां पर बीएड से लेकर बिलिब, एमलिब, एमजेएमसी और एम इन एडुकेशन की पढ़ाई होती थी। इधर, पीयू को डिस्टेंस एजुकेशन ऑफ ब्यरो ने सिर्फ एक्सटेंशन के तौर पर एक सत्र में नामांकन का मौका दिया था। वह भी समाप्त हो गया है। यहां भी नामांकन बंद है।

कुलपति प्रो. केसी सिन्हा ने कहा

विश्वविद्यालय की आगे की मान्यता के लिए डिस्टेंस एजुकेशन ब्यूरो को पत्र भेजा गया है। विश्वविद्यालय को अगले सत्र के लिए मान्यता नहीं मिली है।

उम्मीद है कि जल्द निर्णय होगा। यूजीसी से मान्यता के लिए कई बार अधिकारी से बात हो चुकी है। विश्वविद्यालय में कुल मिलाकर 54 हजार विद्यार्थी अभी पढ़ाई कर रहे हैं।

परीक्षा फॉर्म समेत अन्य सभी अपडेट के लिए Join करे

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Follow On Google News – Click on Star 🌟

Join WhatsApp – Click Here

Scroll to Top