एकेडमिक काउंसिल से मंजूरी बिहार विवि में योग से कर सकेंगे पीजी

एकेडमिक काउंसिल से मंजूरी बिहार विवि में योग से कर सकेंगे पीजी

बीआरए बिहार विवि में छात्र अब योग से पीजी कर सकेंगे, कुलपति प्रो हनुमान प्रसाद पांडेय की अध्यक्षता में बुधवार को हुई एकेडमिक काउंसिल की बैठक में इस प्रस्ताव को पास कर दिया गया. एकेडमिक काउंसिल

इसके अलावा विवि में होम्योपैथी से पीएचडी भी शुरू होगी काउंसिल ने इस पर भी मुहर लगा दी,

काउंसिल की बैठक में तय किया गया कि शैक्षिक सत्र 2020-22 से प्रैक्टिकल वाले विषय को छोड़ कर

दूसरे किसी भी विषय में स्नातक करने वाले छात्र अपनी मर्जी के विषय से पीजी कर सकेंगे.

नयी शिक्षा नीति के तहत डीएसडब्ल्यू प्रो अभय कुमार सिंह ने इसका प्रस्ताव बैठक में रखा था, जिसे

मंजूरी दे दी गयी.

एकेडमिक काउंसिल की बैठक में एफिलिएशन कमेटी में पास बीफार्मा के कॉलेजों के साथ आइएमसी की

बैठक में पास पारा मेडिकल के आठ कोर्स और एलएलएम व एमजेएमसी को भी पास कर दिया गया.

इसके साथ फैकेल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, फैकेल्टी आफ एजुकेशन और फैकेल्टी ऑफ सोशल वर्क को

खोलने के प्रस्ताव को भी मंजूरी मिली.

काउंसिल में तय किया गया कि बीएड कॉलेज के जिन शिक्षकों का अध्यापन अनुभव पांच वर्ष हो चुका है

और कॉलेज में यूजीसी के 2016 रेगुलेशन को पालन किया जाता है, वहां के शिक्षक पीएचडी में गाइड बन

सकते हैं. एकेडमिक काउंसिल

अतिथि शिक्षकों की लगेगी अतिरिक्त ड्यूटी विवि में अतिथि शिक्षकों को एकेडमिक काउंसिल

पढ़ाने के अलावा अतिरिक्त ड्यूटी भी करनी पड़ेगी. एकेडमिक काउंसिल की बैठक में तय किया किया गया

कि पटना विवि की तर्ज पर अतिथि शिक्षकों से दूसरे अकादमिक काम भी कराये जायेंगे.

इसके लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया. कमेटी में डीएसडब्ल्यू प्रो अभय कुमार सिंह, परीक्षा

नियंत्रक प्री मनोज कुमार और कॉमर्स के हेड प्रो प्रेमानंद शामिल रहेंगे. बैठक में एमसीए के सिलेबस के

ड्राफ्ट ऑर्डिनेंस को भी पास किया गया. Bihar university teacher meeting बैठक में तय

BRABU : कर्मचारियों का सामूहिक अवकाश खत्म, कुलपति ने मानी सभी मांगें, अधिसूचना जारी

BRABU : कर्मचारियों का सामूहिक अवकाश खत्म, कुलपति ने मानी सभी मांगें, अधिसूचना जारी

BIHAR UNIVERSITY : बिहार यूनिवर्सिटी और सभी कॉलेजों के कर्मचारी गुरुवार को सामूहिक अवकाश पर चले गए। इसके बाद कर्मियों ने यूनिवर्सिटी को बंद करा...