वोकेशनल कोर्स की सीटें तय न होने से फंसी कन्या उत्थान राशि

वोकेशनल कोर्स की सीटें तय न होने से फंसी कन्या उत्थान राशि

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में वोकेशनल कोर्स पास कर चुकीं छात्राओं को मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना की राशि का लाभ नहीं मिल सका। पांच दर्जन से अधिक छात्राओं के आवेदन को शिक्षा विभाग ने वापस कर दिया गया है।

अब ये छात्राएं विवि का चक्कर लगा रही हैं। वोकेशनल कोर्सो की सीटें राज्य सरकार से मंजूर नहीं होने के कारण ऐसी स्थिति आयी है। हर साल वोकेशनल कोर्स में दो से ढाई हजार छात्राएं पास होती हैं। तीन वर्षों में छह हजार छात्राएं विभिन्न कोर्सो में पास हुई हैं।

कन्या उत्थान योजना की राशि अप्रैल 2018 के बाद से पास छात्राओं को मिलना है। विभाग की ओर से तय हुआ कि तीन वर्षीय वोकेशनल कोर्स पास छात्राओं को भी कन्या उत्थान योजना के 25 हजार रुपये का लाभ मिलेगा। इसके बाद छात्राओं ने राशि के लिए ऑनलाइन आवेदन किया।

विवि की ओर से इन तमाम छात्राओं के आवेदन की जांच कर विभाग को भेज दिया गया , लेकिन शिक्षा विभाग की ओर से इनके आवेदन को वापस कर दिया गया।

बताया गया कि सीटों पर विभाग की मंजूरी मिलने के बाद ही कन्या उत्थान योजना का लाभ मिलेगा। बता दें कि विवि के करीब 50 कॉलेजों में वोकेशनल कोस्सो की पढ़ाई होती है।

बीच-बीच में बढ़ती रहीं सीटें:

छात्र-छात्राओं की संख्या के आधार वोकेशनल कोर्सो में दो से तीन साल के अंतराल पर सीटें बढ़ीं भी। हालांकि कई कॉलेजों में कई वोकेशनल कोर्स में छात्रों की कमी के कारण एडमिशन भी नहीं हो सका। हालांकि संबंधित पांचों जिलों के प्रमुख कॉलेजों में छात्राओं की अच्छी संख्या रही है।

बीआरएबीयू : दर्जन भर कोर्स की सीटों पर राज्य सरकार से नहीं मिली मंजूरी

कन्या उत्थान योजना की राशि के लिए आवेदन को लौटाया

Rn college Telegram group – Click here

Rn college Facebook group – Click here

बिहार यूनिवर्सिटी न्यूज़ के लिए – Click here

BRABU UG PG Admission: स्नातक और पीजी में खाली सीटों पर नामांकन के लिए इस दिन खुलेगा आवेदन पोर्टल, कुलपति के पास भेजी गई फाइल

BRABU UG PG Admission: स्नातक और पीजी में खाली सीटों पर नामांकन के लिए इस दिन खुलेगा आवेदन पोर्टल, कुलपति के पास भेजी गई फाइल

BRABU UG & PG Admission 2022 : बिहार यूनिवर्सिटी पीजी की खाली पड़ी सीटों को भरने के लिए फिर से पोर्टल खोलेगा। इसकी जानकारी यूएमआईएस...