AddText 05 14 09.41.29

BRABU: यूनिवर्सिटी के बिना अनुमति के नर्सरी टीचर ट्रेनिंग (एनटीटी) कोर्स से कॉलेजों ने कमाए पांच करोड़

BRABU: कॉलेजों ने एनटीटी (नर्सरी टीचर ट्रेनिंग) कोर्स चलाकर पांच करोड़ की कमाई कर ली है। इस कमाई का कोई भी हिसाब नहीं है। कॉलेजों में बिना बीआरए बिहार यूनिवर्सिटी के अनुमति से एनटीटी कोर्स चलाने पर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सख्त आपत्ति जताई है।

एनटीटी कोर्स से फीस के रूप में कितनी कमाई कर चुके

डीएसडब्ल्यू प्रो. अजीत कुमार ने बिना अनुमति के एनटीटी कोर्स चलाने पर सभी कॉलेजों के प्राचार्यों से जवाब तलब किया था और कहा था कि वह एनटीटी कोर्स से फीस के रूप में कितनी कमाई कर चुके हैं इसकी जानकारी दें।

11 कॉलेजों ने माना है कि उनके यहां एनटीटी कोर्स चल रहा है

डीएसडब्ल्यू के तीन बार पत्र देने पर 11 कॉलेजों ने माना है कि उनके यहां एनटीटी कोर्स चल रहा है। कॉलेजों ने इस कोर्स के कमाई का हिसाब भी डीएसडब्ल्यू को दिया है।

डीएसडब्ल्यू ने बताया कि जिन कॉलेजों ने जवाब दिया है उनमें वैशाली महिला कॉलेज, एलएस कॉलेज, आरएलएसवाई कॉलेज, एमडीडीएम कॉलेज, एलके कॉलेज सीतामढ़ी, आरबीबीएम कॉलेज, सीएन कॉलेज साहेबगंज, एसआरकेपी कॉलेज चकिया, आरएसएस कॉलेज सीतामढ़ी, वीर चंद पटेल कॉलेज देसरी और वसुंधरा बीएड कॉलेज शामिल हैं।

BRABU: 19 नए कॉलेजों के संबंधन का रास्ता साफ, शैक्षणिक सत्र 2022-25 में स्नातक में बढ़ेंगी 20 हजार सीटें, यहाँ पढ़िए विस्तृत डिटेल्स

कॉलेजों ने एनटीटी कोर्स का संबद्धन एक एनजीओ से लिया

इसके अलावा अब भी जिन कॉलेजों ने जानकारी नहीं दी है उनमें एपी सिन्हा साइंस कॉलेज, एमएसकेबी कॉलेज, जैतपुर कॉलेज और कुछ बीएड कॉलेज शामिल हैं। इसमें बेतिया के आरएलएसवाई कॉलेज में 2100 छात्रों का दाखिला लिया गया है। बाकी कॉलेजों में भी दो से तीन सौ छात्रों का दाखिला है। इन कॉलेजों ने एनटीटी कोर्स का संबद्धन एक एनजीओ से लिया है।

Bihar University की परीक्षा समेत अन्य सभी अपडेट के लिए Join करे

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

Scroll to Top