AddText 07 09 06.19.05

बिहार D.El.Ed के दो सत्र की परीक्षा 26 से , शेड्यूल जारी, इस तिथि से शुरू होगी कॉपी जाँच, यहाँ देखे पूरी जानकारी

BSEB D.El.Ed. Exam 2022 : डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन (डीएलएड) फेस टू के प्रशिक्षण सत्र 21-23 के प्रथम वर्ष और सत्र 20-22 के द्वितीय वर्ष की परीक्षा को लेकर केंद्रों का निर्धारण कर दिया गया है। 26 जुलाई से एक अगस्त और दो अगस्त से पांच अगस्त तक दोनों साल की परीक्षा दो पाली में ली जाएगी। जिले में पांच केंद्रों पर परीक्षा होगी।

परीक्षा नियंत्रक ने इस संबंध में डीएम और पुलिस अधीक्षक को निर्देश जारी किया

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के परीक्षा नियंत्रक ने इस संबंध में डीएम और पुलिस अधीक्षक को निर्देश जारी किया है। कदाचार मुक्त परीक्षा को लेकर निर्देश दिया है। बोर्ड ने निर्देश दिया है कि दोनों परीक्षा के सभी विषय की कॉपियों की बारकोडिंग अपर समाहर्ता के नेतृत्व में गठित दल की प्रतिनियुक्ति कर होगी।

छह से आठ अगस्त तक बारकोड स्टीकर लगा देने का काम पूरा

बारकोडेड कॉपी का मूल्यांकन कार्य 17 अगस्त से पटना मुख्यालय स्थित निर्धारित मूल्यांकन केंद्र किया जाना है। इसलिए डीएलएड परीक्षा की कॉपियों पर छह से आठ अगस्त तक बारकोड स्टीकर लगा देने का काम पूरा कर लेना है।

BRABU : स्नातक सत्र 2022-25 पार्ट 1 में दाखिले के लिए आज से बदल सकते है विषय, यहाँ से करें आवेदन में एडिट

बोर्ड ने जारी किया निर्देश

परीक्षा केंद्रों से प्रतिदिन परीक्षा की समाप्ति के बाद ओएमआर आधारित कॉपी के सील्ड पैकेट डीएम की ओर से निर्धारित अवधि में विषय के अनुसार सुरक्षित रखे जाएंगे जहां उनकी सुरक्षा के लिए सशस्त्रत्त् बल की व्यवस्था की जाएगी। बोर्ड ने निर्देश दिया है कि बार कोड लगाने के लिए सभी अधिकारी, दंडाधिकारी और कर्मियों को अपने हस्ताक्षर से पहचान पत्र दिया जाएगा।

कॉपियों का मूल्यांकन नहीं किया जाएगा

किसी भी परीक्षा केंद्र पर व्यापक कदाचार पाए जाने पर परीक्षा रद्द होने की स्थिति में कॉपी और ओएमआर को अलग-अलग पैकेट में रखकर उसपर जिला स्तर पर बनाए गए वज्रगृह में बिल्कुल अलग रखा जाएगा। क्योंकि इन कॉपियों का मूल्यांकन नहीं किया जाएगा।

परीक्षा फॉर्म समेत अन्य सभी अपडेट के लिए Join करे

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

BRABU : वर्ष 1974 से ही लड़खड़ाया बिहार यूनिवर्सिटी का सत्र, जो अब तक नहीं लौट सका पटरी पर, यहाँ पढ़ें पूरा इतिहास

Scroll to Top