AddText 04 05 04.14.00

BRABU : कर्मचारियों का सामूहिक अवकाश खत्म, कुलपति ने मानी सभी मांगें, अधिसूचना जारी

BIHAR UNIVERSITY : बिहार यूनिवर्सिटी और सभी कॉलेजों के कर्मचारी गुरुवार को सामूहिक अवकाश पर चले गए। इसके बाद कर्मियों ने यूनिवर्सिटी को बंद करा दिया। इस कारण विवि से लेकर कॉलेजों तक में कामकाज ठप हो गया।

नामांकन कराने आए विद्यार्थियों को परेशानी झेलनी पड़ी

ऐसे में कॉलेजों में परीक्षा फॉर्म भरने व नामांकन कराने आए विद्यार्थियों को परेशानी झेलनी पड़ी। सैकड़ों छात्रों को खाली हाथ लौटना पड़ा। वहीं, शाम में वीसी से वार्ता के बाद सभी मांगें मानी जाने पर कर्मियों ने तीन दिवसीय सामूहिक अवकाश को वापस ले लिया।

नारेबाजी करते हुए यूनिवर्सिटी के धरना स्थल पर गए और प्रदर्शन शुरू

इससे पहले सुबह दस बजे से ही कर्मचारियों ने यूनिवर्सिटी पहुंच कर सभी कार्यालयों को बंद करा दिया। इसके बाद कर्मचारी नारेबाजी करते हुए यूनिवर्सिटी के धरना स्थल पर गए और प्रदर्शन शुरू कर दिया।

कर्मचारियों का कहना था कि विवि प्रशासन ने वार्ता के बाद भी वादा खिलाफी करते हुए कर्मचारियों की कोई मांगें अब तक नहीं मानी है।

कर्मचारी अपने प्रमोशन की मांग कर रहे

कर्मचारी अपने प्रमोशन की मांग कर रहे थे। धरना स्थल पर नारेबाजी के बाद कर्मचारी फिर से विवि के प्रशासनिक भवन पहुंचे और वहां धरना दिया। कर्मचारियों के आंदोलन के कारण विवि में काम नहीं हुआ।

कोई भी अधिकारी विवि नहीं आये। बिहार यूनिवर्सिटी कर्मचारी संघ के अलावा कॉलेज कर्मचारियों ने भी अपने कॉलेजों में काम बंद कराया व नारेबाजी की।

हाजीपुर तक कर्मचारी हड़ताल पर रहे

मुजफ्फरपुर से लेकर बेतिया और हाजीपुर तक कर्मचारी हड़ताल पर रहे। हड़ताल के कारण पार्ट वन का परीक्षा फॉर्म भरने आए छात्रों को भी परेशानी हुई। कई छात्र बिना फॉर्म भरे ही वापस हो गए।

पार्ट-1 और पीजी में एडमिशन लेने के लिए आए विद्यार्थियों को भी खाली हाथ लौटना पड़ा

कई छात्र काफी देर तक कॉलेज में जमे रहे, लेकिन जब उन्होंने देखा कि फॉर्म नहीं भरा सकेगा तो वे लौट गए। कर्मचारियों की हड़ताल से पार्ट-1 और पीजी में एडमिशन लेने के लिए आए विद्यार्थियों को भी खाली हाथ लौटना पड़ा।

वार्ता के बाद वीसी ने मानी सभी मांगे, अधिसूचना जारी :

देर शाम कर्मचारी संघ और कुलपति प्रो. हनुमान प्रसाद पांडेय के बीच वार्ता हुई। संघ के सचिव गौरव ने बताया कि कुलपति ने हमारी सभी मांगें मान लीं। प्रमोशन के लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है और आठ नवंबर को थर्ड ग्रेड व फोर्थ ग्रेड के कर्मचारियों के प्रमोशन के लिए परीक्षा की तारीख जारी कर दी गई है।

मांगे पूरी होने के बाद संघ ने सामूहिक अवकाश खत्म कर दिया है। पहले बिहार विवि के कर्मचारियों ने 22 से 24 सितंबर तक सामूहिक अवकाश की घोषणा की थी।

BRABU UG Admission: 28 सितंबर से फिर खुलेगा स्नातक में नामांकन के लिए आवेदन का पोर्टल, CBSE के छात्र बढ़ाएंगे तीसरी सूची में भी कटऑ

एक दिन पहले जारी हुआ था पत्र, पर कर्मी नहीं थे संतुष्ठ

कर्मचारियों के प्रमोशन की प्रक्रिया का पत्र रजिस्ट्रार ने 21 सितंबर को ही जारी कर दिया गया था, लेकिन इससे कर्मचारी संतुष्ठ नहीं थे। उनका कहना था कि पत्र निकालने से पहले संघ से कुलसचिव ने बात नहीं की।

इस कारण पत्र जारी होने के बाद भी कर्मचारी सामूहिक हड़ताल पर चले गये। कुलपति से वार्ता के समय प्रोवीसी प्रो. रवींद्र कुमार, रजिस्ट्रार प्रो. राम कृष्ण ठाकुर, सीसीडीसी प्रो. अमिता शर्मा, इंस्पेक्टर ऑफ कॉलेज प्रो. प्रमोद कुमार, परीक्षा नियंत्रक डॉ. संजय कुमार और डीएसडब्ल्यू प्रो. अभय कुमार सिंह मौजूद थे।

कर्मचारियों ने सामूहिक अवकाश वापस ले लिया है

कर्मचारियों से वार्ता के बाद उनकी मांगें मानी गईं। प्रमोशन प्रक्रिया का पत्र 21 सितंबर को ही जारी कर दिया गया था। मांगें मानी जाने के बाद कर्मचारियों ने सामूहिक अवकाश वापस ले लिया है।

परीक्षा फॉर्म समेत अन्य सभी अपडेट के लिए Join करे

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

Scroll to Top