बिहार यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर डाले जाएंगे स्टडी मैटेरियल, यहाँ पढ़े पूरी जानकारी

बिहार यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर डाले जाएंगे स्टडी मैटेरियल, यहाँ पढ़े पूरी जानकारी

बिहार यूनिवर्सिटी सहित सभी विश्वविद्यालयों में दृष्टिबाधित छात्रों के लिए स्टडी मैटैरियल तैयार किया जाएगा। यूजीसी ने इसके लिए सभी कुलपतियों को पत्र लिखा है। यूजीसी ने विश्वविद्यालय को निर्देश दिया है कि यूनिवर्सिटी स्तर पर दृष्ट बाधित छात्रों की पढ़ाई के लिए सामग्री तैयार किया जाए, ताकि ऐसे छात्रों को कोई परेशानी नहीं हो।

स्नातक स्तर सवा लाख छात्रों का दाखिला होता

बिहार यूनिवर्सिटी में करीब 100 दृष्टि बाधित पढ़ते हैं, लेकिन इनके लिए पूरे यूनिवर्सिटी में तीन शिक्षक हैं। ये तीनों शिक्षक एलएस कालेज में ही हैं। बाकी कालेजों में इन छात्रों की पढ़ाई के लिए कोई इंतजाम नहीं है। बिहार यूनिवर्सिटी में अंगीभूत और संबद्ध मिलाकर 108 कॉलेज हैं। हर वर्ष विवि में स्नातक स्तर सवा लाख छात्रों का दाखिला होता है। दिव्यांग छात्रों का दाखिला कोटा के तहत किया जाता है।

यूजीसी के इस निर्देश पर बिहार यूनिवर्सिटी के डीएसडब्ल्यू प्रो. अजीत कुमार का कहना है कि इसके लिए सभी चीजों को देखा जाएगा। हर विषय में कितने दृष्टि बाधित छात्र इसका रिकार्ड तैयार किया जाएगा उसके बाद आगे का काम होगा।

ढाई हजार से अधिक छात्रों के रिजल्ट में अब भी गड़बड़ी, सुधारने के लिए 9 टैबुलेटर की हुई नियुक्ति

वेबसाइट पर डाले जाएं ऑडियो बुक :

यूजीसी ने निर्देश दिया है कि यूनिवर्सिटी अपनी वेबसाइट पर विषय संबंधित सामग्री तैयार कर उसका ऑडियो बुक डालें। इससे छात्र सुनकर अपने विषय की तैयारी कर सकेंगे। इन ऑडियो बुक के लिए छात्रों से कोई राशि नहीं ली जाएगी। आडियो बुक को डाउनलोड करने की भी सुविधा दी जाए, ताकि छात्र अपने मोबाइल में भी इसे रख सकें।

संबद्ध कॉलेजों में भी लागू किया जाएगा निर्देश: 

यूजीसी ने विवि को निर्देश दिया है कि दृष्टि बाधित छात्रों के लिए ऑडियो बुक और ब्रेल लिपि सिर्फ अंगीभूत कालेजों और विवि में ही नहीं बल्कि संबद्ध कॉलेजों में भी लागू किए जाएंगे। विवि प्रशासन ने सभी संबंद्ध कॉलेजों को इस बारे में पत्र भेजकर जानकारी दे दी है। संबद्ध कॉलेजों में भी दृष्टिबाधित छात्रों के लिए अलग से सामग्री तैयार की जाएगी।

ऑडियो बुक भी छात्रों के लिए होंगे तैयार

यूजीसी ने विश्वविद्यालयों को निर्देश दिया है कि वह दृष्टि बाधित छात्रों के लिए ब्रेल लिपि की किताबें छापें। इसके अलावा ऑडियो बुक भी छात्रों के लिए तैयार करें। शिक्षकों को जिम्मेदारी दी जाए कि वह इसके लिए तैयारी करें। दृष्टि बाधित छात्रों को बेहतर शिक्षा देने के लिए ऐसे दूसरे उपाये भी किये जायें। यूजीसी ने विवि को टैक्टाइल बुक और लार्ज प्रिंट बुक भी प्रकाशित करने को कहा है।

बिहार बोर्ड ने जारी की गाइडलाइन्स, सभी परीक्षा केंद्रों पर धारा 144 लगाई जाएगी, केंद्र पर कदाचार हुआ तो इसके लिए केंद्राधीक्षक जिम्मेवार

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

BRABU: बिहार यूनिवर्सिटी में स्नातक पार्ट वन की कॉपियों की जांच शुरू, तीन मिनट में एक कॉपी निपटा रहे परीक्षक, यहां जानें परीक्षा नियंत्रक ने क्या कहा

BRABU: बिहार यूनिवर्सिटी में स्नातक पार्ट वन की कॉपियों की जांच शुरू, तीन मिनट में एक कॉपी निपटा रहे परीक्षक, यहां जानें परीक्षा नियंत्रक ने क्या कहा

BRABU Part 1 Result: बिहार यूनिवर्सिटी में पार्ट वन की कॉपियों की जांच में कई परीक्षक कोताही कर रहे हैं। वह तीन मिनट में एक...