बिहार यूनिवर्सिटी के स्नातक पार्ट वन के एडमिट कार्ड में गलतियों के कारण आज और 3 अक्टूबर की परीक्षा स्थगित

बिहार यूनिवर्सिटी के स्नातक पार्ट वन के एडमिट कार्ड में गलतियों के कारण आज और 3 अक्टूबर की परीक्षा स्थगित

बिहार यूनिवर्सिटी के स्नातक पार्ट वन की शुक्रवार से होने वाली परीक्षा स्थगित हो गई है। परीक्षा विभाग ने एक एवं तीन अक्टूबर की परीक्षा स्थगित की है। इन दोनों दिन की परीक्षा की तिथि बाद में घोषित की जाएगी। परीक्षा स्थगित करने के पीछे विवि का कहना है कि केंद्राधीक्षक के कहने पर ऐसा हुआ है, लेकिन हकीकत यह है कि परीक्षा से पहले एडमिट कार्ड जारी करने में ही विवि हांफ गया है।

किसी एडमिट कार्ड में समय बदला तो किसी में एक ही समय में दो पेपर दर्ज

परीक्षा से एक दिन पहले तीसरी बार जारी एडमिट कार्ड में भी गलतियों की भरमार के कारण परीक्षा स्थगित करनी पड़ी। किसी के एडमिट कार्ड में परीक्षा का समय बदल गया है तो किसी में एक ही दिन और एक समय में दो-दो पेपर की परीक्षा अंकित कर दी गई है। परीक्षा से एक दिन पहले गुरुवार को परीक्षार्थियों को कॉलेजों में एडमिट कार्ड के लिए बुलाया गया था।

इसके कारण कॉलेजों में भीड़ उमड़ी। ऐसे में बड़ा सवाल है कि गलत एडमिट कार्ड पर आगे की परीक्षा भी कैसे होगी? परीक्षा नियंत्रक डॉ. संजय कुमार ने कहा, प्राचार्यों को समय पर सुधार के लिए कहा गया है। वीसी से बात कर निर्णय लेंगे। डाटा फीड करने में कहां गलती हो रही है, इसे लेकर एजेंसी से पूछताछ की जा रही है।

आधा दर्जन कॉलेजों में दोपहर बाद तक नहीं पहुंचे थे एडमिट कार्ड

करीब आधा दर्जन कॉलेजों में दोपहर बाद तक एडमिट कार्ड नहीं पहुंचे थे। कॉलेजों के प्रतिनिधियों को एक दिन पहले ही विवि बुला लिया गया था कि वे अपने कॉलेज का एडमिट कार्ड लेकर सुबह निकल जाएंगे, लेकिन दोपहर तक इसमें सफलता नहीं मिली।

सोशल मीडिया पर छात्रों ने निकाली भड़ास, कहा- एडमिट कार्ड जारी करन में गिनीज बुक में नाम दर्ज हो

10 दिनों में 3 बार एडमिट कार्ड जारी हुए, लेकिन ऑनलाइन परीक्षा फॉर्म भरवाकर एडमिट कार्ड जारी करने वाली एजेंसी इसे समय पर सही से नहीं दे सकी। एजेंसी पर भी सवाल उठने लगे हैं। सोशल मीडिया पर छात्रों ने भड़ास निकाली। अजय कुमार ने लिखा- एडमिट कार्ड जारी करने में विवि का नाम गिनीज बुक में दर्ज हो। छात्रों ने कहा कि शुक्रवार से परीक्षा को लेकर कई छात्र पैसे खर्च कर बाहर से यहां आए और परीक्षा स्थगित हो गई।

दो साल बाद बदले पैटर्न में होनी है परीक्षा, इसलिए स्टूडेंट्स में भी ऊहापोह

स्नातक पार्ट वन 2019-22 सत्र के पहले पार्ट की परीक्षा दो साल बाद होगी। पहली बार दो-दो घंटे की परीक्षा 3-3 पालियों में ओएमआर शीट पर होगी। परीक्षा में सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव होंगे। इससे छात्र पहले ही ऊहापोह में हैं।

ऑनलाइन फॉर्म भराने के बाद एडमिट कार्ड में त्रुटि न हो। इसके लिए विवि की मॉनिटरिंग होनी चाहिए। एजेंसी की यह जिम्मेदारी है। लेकिन, विवि को यह देखना होगा कि जो चीज उन्हें चाहिए। वह सही हो रहा है या नहीं। यदि नहीं तो किस स्तर से गड़बड़ी हो रही है। डाटा सही नहीं मिलने पर भी कंप्यूटर से सही रिजल्ट नहीं मिलेंगे। समय से इसे गंभीरता से लिया जाता तो ऐसी नौबत नहीं आती। परीक्षा कार्य काफी गोपनीय और सतर्कता का है।

(डॉ. अमरेंद्र नारायण यादव, पूर्व कुलपति, बीआरए बिहार विवि)

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click here

Bihar News – Click here

BIHAR 4 Year B.Ed. Admission 2022: चार वर्षीय इंटीग्रेटेड B.Ed की बची सीटों पर 10 अक्टूबर से स्पॉट नामांकन, यहां जाने पूरी प्रक्रिया

BIHAR 4 Year B.Ed. Admission 2022: चार वर्षीय इंटीग्रेटेड B.Ed की बची सीटों पर 10 अक्टूबर से स्पॉट नामांकन, यहां जाने पूरी प्रक्रिया

Bihar 04 Year B.Ed. Admission 2022: चार वर्षीय इंटीग्रेटेड बीएड की बची हुई 155 सीटों पर 10 अक्टूबर से ऑन स्पॉट नामांकन होगा। 14 अक्टूबर...