AddText 04 05 04.14.00

BRABU : दिसंबर तक समाप्त होगी 2022 सत्र की परीक्षाएं, शिक्षा विभाग ने दो दिन के अंदर मांगा सभी लंबित परीक्षाओं के आयोजन का शेड्यूल, यहाँ पढ़ें लेटेस्ट अपडेट

BRABU : राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी 13 परंपरागत विश्वविद्यालयों को दो टूक कहा है कि स्नातक और स्नातकोत्तर (यूजी व पीजी) के सत्र को हर हाल में अद्यतन करें। इसके लिए उन्हें दिसम्बर तक का समय दिया गया है।

विश्वविद्यालयों के सत्र को नियमित किया जा सके

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने मंगलवार को सभी विश्वविद्यालयों से कहा कि परीक्षाएं, कक्षाएं व परीक्षाएं ससमय, नियमित चलें। यूजी-पीजी तथा व्यवसायिक पाठ्यक्रमों के लंबित बैकलॉग सत्रों को नियमित करते हुए शैक्षणिक सत्र 2021-22 तक लंबित शैक्षणिक सत्रों की परीक्षा का आयोजन एवं परीक्षाफल का प्रकाशन दिसम्बर 2022 तक करना सुनिश्चित करें ताकि सभी विश्वविद्यालयों के सत्र को नियमित किया जा सके।

सभी यूनिवर्सिटी के कुलपति, कुलसचिव एवं परीक्षा नियंत्रक शामिल हुए

शिक्षा मंत्री ने ये निर्देश विभागीय सभागार में अपनी अध्यक्षता में आहूत बैठक में दिया। अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह, सचिव असंगबा चुबा आओ, उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. रेखा कुमारी के अलावा सभी यूनिवर्सिटी के कुलपति, कुलसचिव एवं परीक्षा नियंत्रक शामिल हुए। मंत्री ने सभी कुलपतियों को 9 सितम्बर 2021 को राज्यपाल सह कुलाधिपति के निर्देश की भी याद दिलाई।

BRABU PG 1st Semester Exam : पीजी की स्थगित परीक्षा का नया शेड्यूल जारी करने में लगेगा वक्त, यहाँ जाने परीक्षा नियंत्रक ने क्या कहा

● कक्षाएं, परीक्षाएं और सत्र नियमित चले: विजय चौधरी

● शिक्षा विभाग और विश्वविद्यालयों के बीच आपसी समन्वय बेहतर करने का दिया निर्देश

नैक मान्यता को लेकर विश्वविद्यालयों को सुस्ती तोड़ने को कहा

समीक्षा बैठक में मंत्री श्री चौधरी ने विश्वविद्यालयों और विभाग के बीच बेहतर समन्वय स्थापित करने का निर्देश दिया। सभी लंबित मामलों को समन्वय से शीघ्र निपटाने को कहा। विभाग से मांगी गई सूचनाओं को शीघ्र उपलब्ध कराएं। नैक मान्यता को लेकर विश्वविद्यालयों को सुस्ती तोड़ने को कहा गया।

जेपी छपरा, वीकेवीएस आरा, बीएन मंडल मेधपुरा, नालंदा खुला यूनिवर्सिटी पटना, पाटलीपुत्र विश्वविद्यालय, मुंगेर विश्वविद्यालय, पूर्णिया विश्वविद्यालय को नैक मान्यता की पहल करने का निर्देश दिया गया। बैठक में लंबित उपयोगिता प्रमाण पत्र को लेकर भी नाराजगी जाहिर की गई। अरवल, बांका, गोपालगंज, शिवहर, लखीसराय में इसी सत्र से पीजी की पढ़ाई आरंभ होगी।

अबतक इससे वंचित इन पांच जिलों के आधारभूत संरचना वाले कालेज से शिक्षा विभाग ने प्रस्ताव मांगा है ताकि 2022-24 से से ही यहां स्नातकोत्तर की पढ़ाई प्रारम्भ हो सके।

Bihar University में रिजल्ट, एडमिशन, परीक्षा फॉर्म समेत अन्य सभी अपडेट के लिए Join करे

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

BRABU : बिहार यूनिवर्सिटी में 5000 से अधिक छात्र ‘लापता’, DSW और कर्मचारियों ने किया यह बड़ा खुलासा, यहाँ जाने पूरी ख़बर

Scroll to Top