AddText 04 05 04.14.00

बिहार के यूनिवर्सिटी का परीक्षा कैलेंडर पटरी से उतरा, सत्र 6 माह से लेकर 2 साल तक चल रहा विलंब, यहाँ जाने विस्तृत जानकारी

Bihar: राज्य के विश्वविद्यालयों का परीक्षा कैलेंडर दो माल से पटरी से उतरा हुआ है। यह स्थिति अमूमन सभी विश्वविद्यालयों की है। विश्वविद्यालयों कासा से लेकर दो साल तक विलंब चल रहा है।

राजभवन के बार-बार निर्देश के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं

शिक्षा विभाग और राजभवन के बार-बार निर्देश के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं हो सका है। यहां तक कि सबसे प्रतिष्ठित माना जाने वाले पटना यूनिवर्सिटी भी इससे अमृता नहीं है। शिक्षा विभाग और राजभवन के बार-बार निर्देश के बाद भी स्थिति में सुधार नहीं, पटना विवि भी इससे अछूता नहीं।

पीयू भी सत्र नियमित करने में विफलः

राज्य का सबसे पुराना विश्वविद्यालय भी सत्र को नियमित करने में विफल रहा है। विश्वविद्यालय का सत्रह माह विलंब से चल रहा है। खासकर स्नातकोत्तर का सत्र विलंब है। स्नातक पार्ट भी की परीक्षाएं हो गई है पर अभी रिजल्ट आने में समय लगेगा। पटना विवि में पीजी के नए सत्र के नामांकन को प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं हो सकी है।

BRABU UG Admission 2022 : स्नातक में नामांकन के लिए आज नहीं जारी होगी 1st मेरिट लिस्ट, डीएसडब्ल्यू ने बताया यह वजह, यहाँ पढ़ें

जेपीयू : पीजी, यूजी व बीएड की 24 परीक्षाएं लंबित

जयप्रकाश विश्वविद्यालय में पीजी, यूजी व बीएड के विभिन्न सत्रों की 24 परीक्षाएं लंबित है। यूजी के विभिन्न सत्रों की नौ परीक्षाए लंबित है। प्रति परीक्षा औसतन तीस हजार के अनुसार दो लाख 70 हजार परीक्षार्थी प्रभावित है। पीजी की 12 परीक्षाओं में करीब 50 हज़ार जबकि बीएड की दो परीक्षाओं में करीब तीन हजार विद्यार्थियों का भविष्य दाद पर लगा है।

एलएनएमयू: तीन महीने की देरी

ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी का सत्र करीब तीन महीने देरी से चल रहा है। इसकी वजह कोरोना और पुरानी एजेंसी की ओर से डाटा नहीं देना बताया जा रहा है। कुलसचिव प्रो. मुश्ताक अहमद ने बताया कि वर्ष 2019-22 प्रथम खंड का परीक्षाफल प्रकाशित हो चुका है। इसी सत्र के द्वितीय खंड की परीक्षा अगस्त में शुरू होगी।

वीकेएसयू पीजी का सत्र दो साल पीछे

वीर कुवर सिंह विश्वविद्यालय आरा का शैक्षणिक सत्र स्थापना काल से ही विलंब चला आ रहा है। यूजी का सत्र एक से डेढ़ साल तो पीजी का सत्र दो स्थल पीछे चल रहा है। सत्र विलय होने के चलते करीब तीन लाख छात्र प्रभावित है। स्नातक पार्ट वन सत्र 2020-23 की परीक्षा दो माह पूर्व ली गई है। स्नातक पार्ट टू रात्र 2019-22 का सत्र एक साल पीछे है। पार्ट टू की परीक्षा 17 जुलाई से प्रस्तावित है। इधर, स्नातक पार्ट थर्ड 2018-21 की परीक्षा हो रही है।

बिहार यूनिवर्सिटी का सत्र भी एक साल

मुजफ्फरपुर बिहार यूनिवर्सिटी में सत्र एक वर्ष देरी से चल रहा है। अभी 2018-21 की परीक्षा का रिजल्ट है। सत्र 2019-2022 के पार्ट-2 के और पार्ट-3 की परीक्षा बाकी है। सत्र 2020-23 में अभी पार्ट-1 की परीक्षा हुई है ,2021-24 के किसीभीको परीक्षा नहीं हुई है। वहीं, पीजी का सत्र भी एक साल देरी से चल रहा है। अभी 2019-21 के 2nd सेमेस्टर का रिजल्ट आया है। बाकी परीक्षाएं बाकी हैं।

परीक्षा फॉर्म समेत अन्य सभी अपडेट के लिए Join करे

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

BRABU UG Admission 2022 : स्नातक में नामांकन के समय सभी दस्तावेजों की ऑनलाइन होगी स्क्रीनिंग, छात्रों के लिए यह महत्वपूर्ण गाइडलाइंस जारी

Scroll to Top