बिहार यूनिवर्सिटी में अब नामांकन के साथ ही भरा जाएगा रजिस्ट्रेशन और परीक्षा फॉर्म, यहाँ जाने बैठक में लिए गए अन्य महत्वपूर्ण फैसले को

बिहार यूनिवर्सिटी में अब नामांकन के साथ ही भरा जाएगा रजिस्ट्रेशन और परीक्षा फॉर्म, यहाँ जाने बैठक में लिए गए अन्य महत्वपूर्ण फैसले को

बिहार यूनिवर्सिटी में अब इसी सत्र से नामांकन के साथ ही स्टूडेंट्स का रजिस्ट्रेशन और परीक्षा फॉर्म भी भराया जाएगा। परीक्षा शुरू होने से 2 महीने पूर्व छात्र छात्राओं के लिए एक डमी एडमिट कार्ड जारी होगा जिसमें कोई त्रुटि मिलने पर परीक्षार्थी समय रहते निराकरण करा सकेंगे। इससे परीक्षा के समय किसी तरह की अफरातफरी नहीं होगी। यूनिवर्सिटी का की व्यवस्था को शुरू कर दिया जाए। दूसरी ओर यूनिवर्सिटी को इस वर्ष जीरो सेशन से बचाने के लिए TDC PART 2 की स्पेशल परीक्षा 18 दिसंबर से और TDC पार्ट 3 की 20 दिसंबर से ली जाएगी। परीक्षाओं के बेहतर आयोजन को लेकर विवि प्रशासन ने सभी PG विभागाध्यक्षों समेत अंगीभूत-संबद्ध कॉलेजों के प्राचार्यों से सुझाव और सहयोग मांगा है।

स्नातक सत्र 2021-24 में रिक्त 70 हजार सीटों पर ऑनस्पॉट एडमिशन आज से शुरू, यूनिवर्सिटी ने जारी किया निर्देश, यहाँ जाने कैसे ले सकते है एडमिशन

स्नातक और पीजी की मुख्य परीक्षा से पहले ही प्रैक्टिकल और इंटरनल असेसमेंट के अंक

दूसरी ओर स्नातक और पीजी की मुख्य परीक्षा से पहले ही प्रैक्टिकल और इंटरनल असेसमेंट के अंक यूनिवर्सिटी परीक्षा विभाग को उपलब्ध करा दिए जाने पर सहमति बनी है। वीसी प्रो. हनुमान प्रसाद पांडेय ने बुधवार को बैठक कर कहा कि जो समस्याएं बरकरार हैं, उनका निदान सामूहिक स्तर पर प्राचार्यों और विश्वविद्यालय के सहयोग से हो सकता है। परीक्षा नियंत्रक डॉ संजय कुमार ने बताया कि विवि में पहले स्पेशल फिर पाटं थर्ड की परीक्षा होगी। बैठक में प्रतिकुलपति डॉ रवींद्र कुमार, डीएसडब्ल्यू सह प्रॉक्टर डॉ अजीत कुमार, कुलसचिव डॉ आरके ठाकुर व सीसीडीसी डॉ अमिता शर्मा भी थीं।

प्राचार्यों ने नामांकन से लेकर परीक्षा प्रक्रिया तक परेशानियां गिनाईं

अंगीभूत से लेकर संबद्ध कॉलेजों के प्राचार्यों ने नामांकन से लेकर परीक्षा तक की प्रक्रिया को लेकर कई परेशानियां गिनाई हैं। आरएसएस साइंस कॉलेज सीतामढ़ी के प्राचार्य प्रो. त्रिविक्रम नारायण सिंह ने कहा कि वहां विज्ञान विषय में भी नियमित या गेस्ट 1 शिक्षक नहीं हैं। 2 कर्मचारी ही सारा काम करते हैं। कई बार शिक्षकों की कमी दूर करने के लिए विवि को पत्र भेजा गया, लेकिन शिक्षक नहीं मिले। फॉर्म वेरीफिकेशन से लेकर अन्य प्रक्रिया आसान करने के लिए शिक्षकों की जरूरत है। बैठक में कई प्राचार्यो ने कहा कि 1500 से 2000 स्टूडेंट्स हैं। लेकिन, कर्मचारियों की कमी से फॉर्म वेरीफिकेशन नहीं हो पाता है। एलएस कॉलेज के प्राचार्य डॉ. ओपी राय ने कहा कि विवि 15-20 आईटी प्रोफेशनल को रखकर एक कंप्यूटर सेंटर स्थापित करे। साथ ही स्नातक स्तर पर सब्जेक्टिव परीक्षा लिए जाने का प्रस्ताव दिया।

RRB NTPC Result 2021: रेलवे भर्ती बोर्ड जल्द जारी कर सकता है RRB NTPC CBT-1 के नतीजे ?

बैठक में लिए गए अन्य महत्वपूर्ण फैसले

  • कॉपियों के मूल्यांकन में डिसेंट्रलाइजेशन पद्धति अपनाई जाएगी
  • रिजल्ट जल्दी देने को अलग केंद्र बना कॉपी जांच होगी
  • सभी कॉलेज पेंडिंग लिस्ट परीक्षा नियंत्रक को ईमेल करेंगे
  • एक-दो दिनों में जारी कर दिया जाएगा एमएड रिजल्ट
  • पीजी सेकंड सेमे. परीक्षा फॉर्म व प्रैक्टिकल का डेट कल तक
  • परीक्षा में इनविजिलेटर की कमी हुई तो संबद्ध-इंटर कॉलेज से लेंगे
  • सहायक विषयों के चयन में कॉलेज छात्र-छात्राओं का सहयोग करेंगे।

नामांकन को लिए गए ₹600, पर कॉलेज को नहीं मिली राशि

स्नातक नामांकन के लिए आवेदन शुल्क के रूप में 600 रुपए लेकर कॉलेजों को इसका हिस्सा नहीं दिए जाने का मामला भी बैठक में उठा। कई संबद्ध कॉलेजों के प्राचार्यों ने कहा कि कुलपति के निर्देश पर मार्च में ही कॉलेज का हिस्सा दिए जाने पर सहमति बनी थी, लेकिन अब तक कॉलेजों को राशि नहीं मिली।

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

इंटर और स्नातक छात्राओं में बंटेंगे छात्रवृत्ति के 1068.77 करोड़ रुपए, यहाँ जाने कब तक छात्राओं के खाते में भेजी जाएगी राशि

बिहार यूनिवर्सिटी में डिग्री की ऑनलाइन व्यवस्था सिर्फ आवेदन करने तक सिमटी, हजारों छात्रों के आवेदन करने के बाद भी अब तक नहीं मिली डिग्री

बिहार यूनिवर्सिटी में डिग्री की ऑनलाइन व्यवस्था सिर्फ आवेदन करने तक सिमटी, हजारों छात्रों के आवेदन करने के बाद भी अब तक नहीं मिली डिग्री

बिहार यूनिवर्सिटी में डिग्री प्रोविजनल सहित अन्य डॉक्यूमेंट के लिए ऑनलाइन व्यवस्था केवल आवेदन तक ही सिमटा रह गया है, छात्रों को इसका लाभ नहीं...