IMG 20220420 065541

Bihar CET-B.Ed 2022 : 26 B.Ed कॉलेजों में इस बार नहीं होगा नामांकन, NCTE ने जारी यह आदेश, यहाँ पढ़े पूरी जानकारी

Bihar CET-B.Ed 2022 : बिहार यूनिवर्सिटी के बीएड कॉलेजों में कितने शिक्षक हैं, इसका सत्यापन किया जाएगा। यूनिवर्सिटी प्रशासन इन कॉलेजों में तैनात शिक्षकों का पूरा ब्योरा मांगने जा रहा है। कॉलेजों ने एनसीटीई (राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद) को परफार्मेंस अप्रैजल रिपोर्ट में शिक्षकों की जो संख्या दी है, यूनिवर्सिटी भी उसका सत्यापन करेगा और उनका रिकार्ड अपने पास रखेगा।

एनसीटीई के निर्देश के बाद कसेगा कॉलेजों पर शिकंजा

एनसीटीई की ओर से बिहार यूनिवर्सिटी के आठ कॉलेजों की मान्यता समाप्त करने के बाद विवि ने यह कदम उठाया है। इंस्पेक्टर ऑफ कॉलेज प्रो. प्रमोद कुमार ने बताया कि सभी कॉलेजों से परफारमेंस अप्रैजल रिपोर्ट की हार्डकॉपी मांगी गई है। उसे यहां भी चेक किया जाएगा।

हर कॉलेजों को हर वर्ष अपने कॉलेज की रिपोर्ट एनसीटीई को भेजनी होती है। इसमें शिक्षकों की संख्या भी रहती है। इसके अलावा छात्रों की उपस्थिति और रिजल्ट का भी ब्योरा रिपोर्ट में कॉलेजों को हर वर्ष देना पड़ता है।

BRABU: स्नातक सत्र 2022-25 में नामांकन के लिए 10 दिनों में 30 हजार छात्र-छात्राओं ने किया ऑनलाइन आवेदन, संकाय बदलने के लिए 50 प्रतिशत अंक होना अनिवार्य

संसाधनों की भी होगी पड़ताल : 

बीएड कॉलेजों ने अपने परफार्मेंस रिपोर्ट में जिन संसाधनों का जिक्र किया है, यूनिवर्सिटी उसकी भी पड़ताल करेगा। जो रिपोर्ट कॉलेजों ने एनसीटीई को भेजी है उसी के आधार पर संसाधनों की पड़तला की जाएगी।

पड़ताल में कॉलेजों में आधारभूत संरचना की स्थिति को भी यूनिवर्सिटी की टीम देखेगी और उसकी रिपोर्ट तैयार करेगी। एनसीईटी की ओर से इस वर्ष दाखिले पर रोक से बीएड कॉलेजों में खलबली मच गई है।

शिक्षक कम होने पर होगी बहाली

बीएड कॉलेजों में शिक्षक कम होने पर वहां बहाली की जाएगी। सत्यापन के बाद यह प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी। दाखिले से पहले सभी बीएड कॉलेजों से इस बारे में रजामंदी भी यूनिवर्सिटी लेगा और उसके बाद अपनी निगरानी में वहां शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया कराएगा।

51 ही बीएड कॉलेजों में इस बार दाखिला लिया जाएगा।

एनसीटीई की ओर से आठ कॉलेजों में इस वर्ष दाखिले पर रोक के बाद बिहार यूनिवर्सिटी में 51 ही बीएड कॉलेजों में इस बार दाखिला लिया जाएगा।

पिछले वर्ष 59 कॉलेजों में दाखिला हुआ था। कॉलेजों की संख्या कम होने के कारण सीटों की संख्या भी कम हो जाएंगी। बीएड प्रवेश परीक्षा के लिए अभी आवेदन चल रहा है। मिथिला विवि को प्रवेश परीक्षा का नोडल विवि बनाया गया है।

B.ed नामांकन की सभी लेटेस्ट अपडेट जानने हेतु बिहार के इस टेलीग्राम ग्रुप में जुड़े रहे

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

Scroll to Top