बिहार विश्वविद्यालय मे लाल व हरे रंग की स्याही के प्रयोग पर लगी रोक, केंद्र सरकार के जारी किया निर्देश

बिहार विश्वविद्यालय मे लाल व हरे रंग की स्याही के प्रयोग पर लगी रोक, केंद्र सरकार के जारी किया निर्देश

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय ने विभागीय पत्राचार में लाल व हरे रंग की स्याही के प्रयोग पर रोक लगा दी है. केंद्र सरकार के निर्देश का हवाला देते हुए कहा गया है कि संयुक्त सचिव व इसके ऊपर के पद के अधिकारियों के लिए ही लाल व हरे रंग का पेन अनुमन्य है. ऐसे में विवि के अधिकारी, विभागाध्यक्ष व प्राचार्यों के लिए समान मर्यादा व अनुशासन का पालन आवश्यक है.

अंगीभूत व संबद्ध कॉलेजों के साथ ही पीजी विभागों से विश्वविद्यालय के साथ होने वाले पत्राचार में अक्सर लाल व हरे रंग की स्याही का प्रयोग किया जाता है. प्राचार्य या विभागाध्यक्ष महत्वपूर्ण बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित कराने के लिए दोनों रंगों का प्रयोग करते हैं.

केंद्र सरकार के जारी किया निर्देश

कुलानुशासक डॉ अजीत कुमार ने सभी विभागाध्यक्षों व प्राचार्यों को पत्र भेजकर अनुशासन का पालन आवश्यक बताया है. भारत सरकार की ओर से 17 अक्टूबर 2014 को जारी कार्यालय आदेश में स्पष्ट कहा गया है कि सरकार में पदस्थापित संयुक्त सचिव व समकक्ष पदाधिकारियों के साथ ही इसके ऊपर के पद नियुक्त वरीय पदाधिकारियों के लिए ही हरे रंग की स्याही का प्रयोग अनुमन्य है.

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click here

Bihar News – Click here

BRABU : स्नातक सत्र 2021-24 के पार्ट- 1 परीक्षा केंद्र सूची सोशल मीडिया पर हुआ वायरल! यहां जाने परीक्षा नियंत्रक ने क्या कहा

BRABU : स्नातक सत्र 2021-24 के पार्ट- 1 परीक्षा केंद्र सूची सोशल मीडिया पर हुआ वायरल! यहां जाने परीक्षा नियंत्रक ने क्या कहा

BRABU TDC PART 1 EXAM 2022: बिहार यूनिवर्सिटी में 11 अक्टूबर से होने वाली स्नातक सत्र 2021-24 के पार्ट-1 की परीक्षा के केंद्रों की सूची...