AddText 05 15 10.05.26

BPSC 67th Exam 2022 Paper Leak : BPSC पेपर लीक में राजस्व पदाधिकारी गिरफ्तार, यहाँ पढ़ें अब तक की लेटेस्ट अपडेट

BPSC 67th Exam 2022 Paper Leak: बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) की 67वीं संयुक्त प्रारंभिक परीक्षा (PT) के प्रश्न पत्र वायरल होने के मामले में आर्थिक अपराध इकाई ( ईओयू) ने अररिया के भरगामा अंचल के राजस्व पदाधिकारी राहुल कुमार (26 वर्ष) को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

राहुल गया के अतरी थाना अंतर्गत चिरियावां निवासी युगेश्वर सिंह का पुत्र है। मामले की जांच एवं अनुसंधान ईओयू के तहत गठित विशेष अनुसंधान दल द्वारा किया जा रहा है।

मुख्य सरगना आनंद गौरव उर्फ पिंटू यादव से बराबर संपर्क में रहा

ईओयू से शनिवार को मिली जानकारी के अनुसार राहुल कुमार कांड के मुख्य सरगना आनंद गौरव उर्फ पिंटू यादव से बराबर संपर्क में रहा है। वह इस कांड में बीपीएससी पीटी के प्रश्नपत्र की मांग घटना से पूर्व एवं घटना के दिन भी पिंटू यादव से कर रहा था।इस कांड के अभियुक्त संजय कुमार से घटना के दिन एवं इसके पूर्व इनसे कई बार बातचीत हुई है।

BPSSC Bihar Police SI PET Admit Card : बिहार पुलिस SI और सार्जेंट पेट का एडमिट कार्ड जारी, यहाँ से करें डाउनलोड

BPSC परीक्षा से पूर्व प्रश्नपत्र एवं उत्तर इन्हें भेजा गया

जानकारी के अनुसार प्रतियोगिता परीक्षाओं में सेटिंग करने वाले अभियुक्तों एवं संदिग्धों के साथ इनका साठगांठ है। राहुल द्वारा किए गए संदिग्ध भुगतान का भी पता चला है। उसके द्वारा भरगामा मोड़, रानीगंज, अररिया स्थित आवास पर भी छापेमारी कर दस्तावेज बरामद किए गए हैं। ईओयू द्वारा इस कांड से जुड़े अन्य तथ्यों को भी खंगाला जा रहा है।

अब तक 9 व्यक्तियों की गिरफ्तारी

बीपीएससी प्रश्न पत्र लीक मामले में अबतक नौ व्यक्तियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। राहुल कुमार की गिरफ्तारी के पूर्व 8 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 15 मई को इस गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया गया था, जिसमें कृषि विभाग भागलपुर का क्लर्क राजेश कुमार भी शामिल है। यह क्लर्क पेपर लीक करने वाले गिरोह का सदस्य है।

साल 2020 में बिहार के मुंगेर जिले में हुए हत्याकांड में अभियुक्त

इस मामले में गिरफ्तार तीन अन्य सदस्यों में निशिकांत कुमार, सुधीर कुमार सिंह और कृष्ण मोहन सिंह शामिल हैं। हालांकि, गिरोह का सरगना आनंद गौरव उर्फ पिन्टू यादव अब भी फरार है। आनंद एनआईटी पटना से पासआउट होने के बाद इस तरह के धंधे में संलिप्त हो गया। आनंद पूर्व में भी इलाहाबाद भर्त्ती घोटाले में गिरफ्तार हुआ था और साल 2020 में बिहार के मुंगेर जिले में हुए हत्याकांड में अभियुक्त है।

BPSC 67th Exam 2022 Exam 2022 की सभी अपडेट के लिए Join करें

Telegram Group – Click here

Facebook Group – Click Here

Bihar News – Click Here

Join WhatsApp – Click Here

BRABU : मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के लिए अब अपलोड करने होंगे ये प्रमाणपत्र, नहीं तो रद्द होगा आवेदन, यहां पढ़ें पूरी खबर

Scroll to Top